हिन्दी | বাংলা | অসমীয়া |
परिवार के सदस्य बच्चे की न्युमोनिया से बचाव कर कर सकते हैं बशर्ते कि बच्चों को जन्म से छह महीने तक पूरी तरह से अधिकतर स्तनपान कराया जायें और सभी बच्चों को अच्छा पोषक आहार दिया जाए और उन्हें सारे टीके लगाई जा चुकी हो।

परिवार के सदस्य बच्चे की न्युमोनिया से बचाव कर कर सकते हैं बशर्ते कि बच्चों को जन्म से छह महीने तक पूरी तरह से अधिकतर स्तनपान कराया जायें और सभी बच्चों को अच्छा पोषक आहार दिया जाए और उन्हें सारे टीके लगाई जा चुकी हो।

स्तनपान बच्चों को न्युमोनिया और अन्य बीमारियों से बचाता है। बच्चे के जीवन में छह महीने तक स्तनपान कराया जाना बहुत ही महत्वपूर्ण है।

किसी भी आयु में जिस बच्चे को पोषक आहार दिया जाता है उसके बीमार होने या मरने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

विटामिन ए श्वसन से संबंधित बहुत सारी गंभीर बीमारियों और अन्य रोगों से बचाव करता है और तेजी से स्वस्थ करता है। विटामिन ए माँ के दूध में, लाल पाम तेल में, मछली, डेयरी उत्पाद, अंडे, संतरे और पीले रंग के फल और सब्जियाँ तथा हरी पत्तेदार सब्जियों में पाई जाती है।

बच्चा एक साल का हो जाये इससे पहले टीकाकरण पूरा हो जाना चाहिये। तब बच्चा खसरा नामक बीमारी से सुरक्षित रहेगा, जिसके कारण न्युमोनिया या अन्य श्वसन संबंधी बीमारियाँ, जिनमें काली खाँसी और तपेदिक का भी समावेश है, हो सकता है।