हिन्दी | বাংলা | অসমীয়া |
बच्चे और गर्भवती महिलाऍं दोनों का संपर्क तंबाकू या खाना पकाने के धुऍं से हो जाये तो वे ख़तरे के दायरे में होते हैं।

बच्चे और गर्भवती महिलाऍं दोनों का संपर्क तंबाकू या खाना पकाने के धुऍं से हो जाये तो वे ख़तरे के दायरे में होते हैं।

बच्चे यदि धुएं से भरे वातावरण में रहें तो उन्हें न्युमोनिया या श्वसन संबंधी समस्याएं हो सकती है। जन्म से पहले भी ऐसे संपर्क बच्चों के लिये हानिकारक है। गर्भवती महिलाओं को धूम्रपान नहीं करनी चाहिये और न ही धुएँ के संपर्क में रहना चाहिये।

तंबाकू का प्रयोग प्राय: किशोरावस्था के दौरान आरंभ होता है। यदि तंबाकू से संबंधित विज्ञापन और तंबाकू के उत्पाद सस्ते और आसानी से उपलब्ध हों, या उनके आसपास के वयस्क यदि धूम्रपान करते हों

तो बहुत संभव है कि किशोर भी धूम्रपान करना आरंभ कर दें। किशोरों को धूम्रपान छोड़ने के लिये प्रोत्साहित किया जाना चाहिये और उनके मित्रों को भी इसके ख़तरों के बारे में अवगत कराया जाना चाहिये।